Kahan se aaya kahan jaoge कहाँ से आया कहाँ जाओगे

219
chet re nar chet re lyrics
chet re nar chet re lyrics

Kahan se aaya kahan jaoge lyrics

कहाँ से आया कहाँ जाओगे

 

कहाँ से आया कहाँ जाओगे खबर करो अपने तन की

कोई सदगुरु मिले तो भेद बतावें खुल जावे अंतर खिड़की

 

हिन्दू मुस्लिम दोनों भुलाने खटपट मांय रिया अटकी

जोगी जंगम शेख सेवड़ा लालच मांय रिया भटकी

कहाँ से आया कहाँ जाओगे…

 

काजी बैठा कुरान बांचे जमीन जोत रहो करकट की

हर दम साहेब नहीं पहचाना पकड़ा मुर्गी ले पटकी

कहाँ से आया कहाँ जाओगे…

 

माला मुद्रा तिलक छापा तीरथ बरत में रिया अटकी

गावे बजावे लोक रिझावे खबर नहीं अपने तन की

कहाँ से आया कहाँ जाओगे…

 

बाहर बैठा ध्यान लगावे भीतर सुरता रही अटकी

बाहर बंदा, भीतर गन्दा मन मैल मछली गटकी

कहाँ से आया कहाँ जाओगे…

 

बिना विवेक से गीता बांचे चेतन को लगी नहीं चटकी

कहें कबीर सुनो भाई साधो आवागमन में रिया भटकी

 

कहाँ से आया कहाँ जाओगे खबर करो अपने तन की

कोई सदगुरु मिले तो भेद बतावें खुल जावे अंतर खिड़की

******************************

Khabar karo apne tan ki

Kahan se aaya kahan jaoge PDF DOWNLOAD

 


krishna bhajan

Kabir Bhajan

Mata Bhajan

Meera Bhajan

Gorakshnath bhajan

Aarti

Ramdevji Bhajan

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here