तु नही जाणे पीर पराई भजन की – Tu Nahi jane Pir Parai Bhajan Ki Lagi hoi to

308

Nahi Jane Pir Parai Bhajan Ki Lyrics

नही जाणे पीर पराई भजन की 


तु नही जाणे पीर पराई भजन की लागी होई तो जाण जो रे भाई

 सबद की लागी लागी होई तो जाण जो रे भाई


हां गेला में यो घायल घूमे घूमे, घाव नजर नहीं आई 

हां ज्ञान कामठा पेरी बैठा, भजनों की भीड़ रलाई 

भजन की लागी होई तो जाण जो रे भाई….


अंखाने लगी पंखा ने लगी लागी, लागी सकल कसाई 

बलख बुखारा ने ऐसी लागी, छोड़ी दी निया बादशाही 

भजन की लागी होई तो जाण जो रे भाई….


धु्रव ने लागी प्रह्लाद ने लागी लागी , लागी मीरा बाई 

हां गोपीचंद भरतरी ने ऐसी लागी, अंग में बसम रमाई 

भजन की लागी होई तो जाण जो रे भाई….


हां पांचों ने मार पच्चीस बस कर ले वो अनघड़ ले वो जगाई 

हां कहे कबीर सुनो भाई साधो, सुन में ध्वजा या पैराणी 

भजन की लागी होई तो जाण जो रे भाई….

***********************************************************

Nahi Jane Pir Parai Bhajan Ki


Nahi Jane Pir Parai Download

#Kabirbhajan

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here