Sharad Poonam Ki raat chandani | शरद पूनम की रात चांदणी

544
meeabai bhajans
meeabai bhajans

Sharad Poonam Ki raat chandani

शरद पूनम की रात चांदणी

 

शरद पूनम की या रात चांदणी ने झरमर खेलण जाती

हां झरमर खेलत मिली गया सजना तो

बात करूंगा शर्माती सांवरिया 

मैं तेरे संग राजी

 

हां सब सखियो का पियूं रे परदेसी ने लिख लिख भेजूंगा पाती

 हां कान कुंवर म्हारा घट में बिराजे तो

बात करूंगा शर्माती सांवरिया

मैं तेरे संग राजी

 

हां सब सखियो का पियूं मन मादि ने मैं बण जाऊं पिया मनमौजी

 हां उकलती भट्टी को हुं हरि रस पीती तो

छती रहती दिन राती सांवरिया

मैं तेरे संग राजी

 

 हां इणी रे काया रो हुं दिवलो संजोवती ने तन मन कर लूंवा  बाती

हां हरे राम रस को हुं तेल बणाती तो

जलतो रहतो दिन राती सांवरिया

मैं तेरे संग राजी

 

सासरीये नी जाती पियर नहीं जाती म्हने गुरु तो मिल्या रैदासी 

हां कहती मीरा बाई सुणो भाई साधु  तो

अमरलोक की हूं में दासीसांवरिया

मैं तेरे संग राजी, मै तेरे संग मे राजी रे गोविन्दा हां

में तेरे संग में राजी

*******************

Sharad Poonam Ki raat chandani Lyrics In Hindi

 

Meerabai Bhajan PDF Download

 


krishna bhajan

Kabir Bhajan

Mata Bhajan

Meera Bhajan

Gorakshnath bhajan

Aarti

Ramdevji Bhajan

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here