Har Har Marunga Nisan Sadhu chot hai asman ki

532
Mhara Sasra Ne Kijo re
Mhara Sasra Ne Kijo re

Har Har Marunga Nisan Sadhu

हर हर मारुँगा निसाण साधु चोट है आसमान की

हर हर मारुँगा निसाण साधु चोट है आसमान की

अरे भई चोट हे आसमान की गुरुज्ञान की हरनाम की

हर हर मारुँगा निसाण साधु चोट है आसमान की

 

अरे भई तत्व की तलवार करलो ओर मन की कटार जी

अरे भई शबदा री ढाल करलो ओर गोली गुरु के नाम की

हर हर मारुँगा निसाण साधु चोट है आसमान की

 

अरे भई अर्द्ध में से उर्द्ध निकल्या ओर त्रिकुटी बंदूक जी

अरे भई प्रेम का पालिता करलो गोली लागी ज्ञान की

हर हर मारुँगा निसाण साधु चोट है आसमान की

 

अरे भई कायागढ़ में फोज लागी ओर सुरा दोई आथड़िया

अरे भई सुरा तो रणखेत रइ गया ओर कायर भाग्यो जाए री

हर हर मारुँगा निसाण साधु चोट है आसमान की

 

अरे भई साधु के सन्मुख रहना ओर पापी से पग दूर जी

अरे भई साधु मिल गया सुगढ़ वाला पापी प्रलय ले जाए री

हर हर मारुँगा निसाण साधु चोट है आसमान की

 

हाँ कहे कबीर सा सुण ले गोरख चाकरी हुजूर की

हर हर मारुँगा निसाण साधु चोट है आसमान की

अरे भई चोट हे आसमान की गुरुज्ञान की हरनाम की

हर हर मारुँगा निसाण साधु चोट है आसमान की

*********************

Har Har Marunga Nisan Sadhu Lyrics

Sadho chot hai Aasman ki PDF

Har Har Marunga Nisan Sadhu

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here