आयो सदा शिव गोकुल में – AAyo Sada Shiv Gokul me lyrics

1765
Thali Bharkar layi re khichdo
Thali Bharkar layi re khichdo

AAyo Sada Shiv Gokul me

श्री कृष्ण का पाऊं दर्शन आयो सदा शिव गोकुल में

जब भगवान शिव यशोदा के घर कन्हैया (श्री कृष्ण) के दर्शन करने
एक साधु के वेश में जाते है तो मां यशोदा और भगवान शिव के बीच जो वार्तालाभ होती है
उसी को भजन के रूप में प्रस्तुत किया गया है . 

श्री हाथ चक्र त्रिशूल बिराजे रे अलक जगाऊ तेरी नगरी में
तो श्री कृष्ण का पाऊं दर्शन आयो सदा शिव गोकुल में 

 

तो रंग महल में खड़ी यशोदा आवाज आई कानों में 

थाल भरी मोतीयन कि रे लाइ ले बाबा तेरी झोलन में 

तो श्री कृष्ण का पाऊं दर्शन आयो सदा शिव गोकुल में 

 

तो कहे महादेव सुनो यशोदा ये मोती मेरे नहीं काम के 

तीन लोक का चांदी रे सोना है मेरी झोली के माय

तो श्री कृष्ण का पाऊं दर्शन आयो सदा शिव गोकुल में 

 

तो कहे यशोदा सुनो महादेव मे बालक ना लाऊं बाहर

कोई नजर लग मेरे लालन को

तो श्री कृष्ण का पाऊं दर्शन आयो सदा शिव गोकुल में 

 

तो कहे महादेव सुनो यशोदा ये बालक नहीं डरने का 

तीन लोग को यही डरावे चार लोक का दाता 

तो श्री कृष्ण का पाऊं दर्शन आयो सदा शिव गोकुल में 

 

तो रंग महल मे गई यशोदा वो बालक बाहर लाई

वां शंकर जब शीश नमाया  

तो श्री कृष्ण का पाऊं दर्शन आयो सदा शिव गोकुल में 

******************

AAyo Sada Shiv Gokul me

 

PDF डाउनलोड करने के लिये निचे दिए गये लिंक को क्लिक करें

 

Shree Krishna bhajan lyrics free Pdf download here

 


krishna bhajan

Kabir Bhajan

Mata Bhajan

Meera Bhajan

Gorakshnath bhajan

Aarti

Ramdevji Bhajan

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here