आरती उतारो वो Arti Utaro Wo Mhara Dev Niranjan Ki Lyrics

1543
ramdevji bhajan lyrics
ramdevji bhajan lyrics

Arti Utaro Wo Mhara Dev Niranjan Ki

सैयां म्हारी आरती उतारो वो अपणा देव निरंजन की

सैयां म्हारी आरती उतारो वो अपणा देव निरंजन की 

है देव निरंजन की रे अपणा रामा पीरा की  है

देव निरंजन की रे अपणा गोरा पीरा की 

सैया म्हारी आरती  उतारो वो अपणा देव निरंजन की

 

हां पेला युगा में राजा प्रहलाद तारिया है प्रहलाद तारिया है 

है राणी रत्ना दे ये झेल्यो मुजरों

सैयां म्हारी आरती उतारो वो अपणा देव निरंजन की 

 

हां दुसरा युगा में राजा हरिश्चंद्र तारिया है हरिश्चंद्र तारिया है 

हे राणी तारा दे ये झेल्यो मुजरों

 सैयां म्हारी आरती उतारो वो अपणा देव निरंजन की 

 

तीसरा युगा में राजा पांडव तारिया है  पांडव तारिया है 

हे राणी द्रद्रोपती ये झेल्यो मुजरों 

सैयां म्हारी आरती उतारो वो अपणा देव निरंजन की 

 

चोथा युगा मे राजा बलिचंद तारिया हे  बलिचंद तारिया है

हे राणी संजावली ये झेल्यो मुजरों 

सैयां म्हारी आरती उतारो वो अपणा देव निरंजन की 

 

दोईकर जोड़े राणी रूपा दे बोल्या है रूपाबाई बोलिया है 

है सत्यअमरा पुर पाया है

सैयां म्हारी आरती उतारो वो अपणा देव निरंजन की 

*******************************

Arti Utaro Wo Mhara Dev Niranjan Ki bhajan 

Arti Utaro Wo Mhara Dev Niranjan Ki pdf 

 


krishna bhajan

Kabir Bhajan

Mata Bhajan

Meera Bhajan

Gorakshnath bhajan

Aarti

Ramdevji Bhajan

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here