Pyara saja hai tera dwar bhawani प्यारा सजा है तेरा द्वार भवानी

1385
jai ambe gauri
jai ambe gauri

Pyara saja hai tera dwar bhawani

बड़ा प्यारा सजा है तेरा द्वार भवानी

 

दरबार तेरा दरबारों में,

एक खास अहमियत रखता है,

उसको वैसा मिल जाता है,

जो जैसी नियत रखता है ।

 

बड़ा प्यारा सजा है तेरा द्वार भवानी, भक्तों की लगी है कतार भवानी

तेरे भक्तो की लगी है कतार भवानी, भक्तों की लगी है कतार भवानी

 

ऊँचे पर्वत भवन निराला, ऊँचे पर्वत भवन निराला

आके शीश नवावे संसार भवानी, शीश निवावे संसार भवानी

बड़ा प्यारा सजा है तेरा द्वार भवानी

 

जगमग जगमग ज्योत जगे है, जगमग जगमग ज्योत जगे है

तेरे चरणों में गंगा की धार भवानी, चरणों में गंगा की धार भवानी

तेरे भक्तों की लगी है कतार भवानी, भक्तों की लगी है कतार भवानी

 

लाल चुनरिया लाल लाल चूड़ा, लाल चुनरिया लाल लाल चूड़ा

गले लाल फूलों के सोहे हार भवानी, लाल फूलों के सोहे हार भवानी

बड़ा प्यारा सजा है तेरा द्वार भवानी

 

सावन महीना मैया झूला झूले, सावन महीना मैया झूला झूले

देखो रूप कंजको का धार भवानी, रूप कंजको का धार भवानी

बड़ा प्यारा सजा है तेरा द्वार भवानी

 

पल में भरती झोली खाली, पल में भरती झोली खाली

तेरे खुले दया के भण्डार भवानी, खुले दया के भण्डार भवानी

तेरे भक्तों की लगी है कतार भवानी, भक्तों की लगी है कतार भवानी

 

‘लख्खा’ को है तेरा सहारा माँ, हम सब को है तेरा सहारा

करदे अपने ‘सरल’ का बेडा पार भवानी, करदे ‘सरल’ का बेडा पार भवानी

बड़ा प्यारा सजा है तेरा द्वार भवानी।।

 

बड़ा प्यारा सजा है तेरा द्वार भवानी, भक्तों की लगी है कतार भवानी,

तेरे भक्तों  की लगी है कतार भवानी, भक्तों की लगी है कतार भवानी

*********************************

लखबीर सिंह लक्खा

*******************************************

Pyara saja hai tera dwar bhawani Lyrics

pyara saja hai tera dwar PDF

 


krishna bhajan

Kabir Bhajan

Mata Bhajan

Meera Bhajan

Gorakshnath bhajan

Aarti

Ramdevji Bhajan

If you like this blog than please share this bhajan.

Mata Bhajan

Lakhbir singh Lakkha bhajan

Navratri Bhajan

Devi Bhajan

Maa Durga Mata Bhajan.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here