Thara Rang Mahal Me रंग महल में अजब शहर में

925
Mhara Sasra Ne Kijo re
Mhara Sasra Ne Kijo re

Thara Rang Mahal Me

थारा रंग महल में अजब शहर में

 रंग महल में अजब शहर में आजा रे हंसा भाई

निर्गुण राजा पे सिर्गुण सेज बिछाई

 

अरे हाँ रे भाई, उना देवलिया में देव नाहीं

झालर कूटे गरज कैसी

थारा रंग महल में अजब शहर में आजा रे हंसा भाई

नर्गुण राजा पे सिर्गुण सेज बिछाई

 

अरे हाँ रे भाई, बेहद की तो गम नाहीं

नुगुरा से सेन कैसी

थारा रंग महल में अजब शहर में आजा रे हंसा भाई

नर्गुण राजा पे सिर्गुण सेज बिछाई

 

अरे हाँ रे भाई, अमृत प्याला भर पाओ

भाईला से भ्रांत कैसी

थारा रंग महल में अजब शहर में आजा रे हंसा भाई

नर्गुण राजा पे सिर्गुण सेज बिछाई

 

अरे हाँ रे भाई, कहें कबीर विचार

सेन माहीं सेन मिली

थारा रंग महल में अजब शहर में आजा रे हंसा भाई

नर्गुण राजा पे सिर्गुण सेज बिछाई

****************

Thara Rang Mahal Me Lyrics

Rang Mahal Me PDF file

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here