anup jalota aisi lagi lagan | ऐसी लागी लगन

305
anup jalota aisi lagi lagan
anup jalota aisi lagi lagan

ऐसी लागी लगन मीरा हो गयी मगन

Aisi lagi lagan meera ho gayi magan

 

 है आँख वो जो श्याम का दर्शन किया करे
है शीश जो प्रभु चरण में वंदन किया करे
बेकार वो मुख है जो रहे व्यर्थ बातों में
मुख वो है जो हरी नाम का सुमिरन किया करे
हीरे मोती से नहीं शोभा है हाथ की
है हाथ जो भगवान का पूजन किया करे
मर कर भी अमर नाम है उस जीव का जग में
प्रभु प्रेम में बलिदान जो जीवन किया करे

 

ऐसी लागी लगन मीरा हो गयी मगन, वो तो गली गली हरी गुण गाने लगी

ऐसी लागी लगन मीरा हो गयी मगन, वो तो गली गली हरी गुण गाने लगी

महलों में पली बन के जोगन चली, मीरा रानी दीवानी कहाने लगी

ऐसी लागी लगन मीरा हो गयी मगन

 

राणा ने विष दिया मानो अमृत पिया, मीरा सागर में सरिता समाने लगी

दुःख लाखो सहे मुख से गोविन्द कहे, मीरा गोविन्द गोपाल गाने लगी

ऐसी लागी लगन मीरा हो गयी मगन, वो तो गली गली हरी गुण गाने लगी

ऐसी लागी लगन मीरा हो गयी मगन

 

कोई रोके नही कोई टोके नही, मीरा गोविन्द गोपाल गाने लगी

बैठी संतो के संग रंगी मोहन के रंग, मीरा प्रेमी प्रीतम को मनाने लगी

वो तो गली गली हरी गुण गाने लगी, ऐसी लागी लगन मीरा हो गयी मगन

वो तो गली गली हरी गुण गाने लगी

************************************

Aisi Lagi Lagan Lyrics

ऐसी लागी लगन - Aisi Lagi Lagan bhajan lyrics in hindi

Aisi lagi Lagan anup jalota

 

 
Follow Us on :
 
FACEBOOK
https://www.facebook.com/kabir.Lyrics
 
INSTAGRAM
https://www.instagram.com/kabirLyrics
 
TWITTER
https://www.twitter.com/kabirLyrics1


krishna bhajan

Kabir Bhajan

Mata Bhajan

Meera Bhajan

Gorakshnath bhajan

Aarti

Ramdevji Bhajan

Meera bai bhajan Lyrics in Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here