Kishori Kuch Aisa Intazam Ho Jaye Lyrics किशोरी कुछ ऐसा

0
19

Kishori Kuch Aisa Intjam Ho Jaye Lyrics

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए

 

 किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए

जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए ।।

 

जब गिरते हुए मैंने तेरा नाम लिया है।

तो गिरने ना दिया तूने, मुझे थाम लिया है ।।

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए…

 

तुम अपने भक्तो पे कृपा करती हो, श्री राधे।

उनको अपने चरणों में जगह देती  हो श्री राधे।

तुम्हारे चरणों में मेरा मुकाम हो जाए ।।

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए…

 

मांगने वाले खाली ना लौटे, कितनी मिली खैरात ना पूछो।

उनकी कृपा तो उनकी कृपा है, उनकी कृपा की बात ना पूछो ।।

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए…

 

ब्रज की रज में लोट कर, यमुना जल कर पान।

श्री राधा राधा रटते, या तन सों निकले प्राण ।।

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए…

 

अगर तुम ना करोगी तो कृपा कौन करेगा।

गर तुम ना सुनोगी तो मेरी कौन सुनेगा ।।

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए…

 

डोलत फिरत मुख बोलत मैं राधे राधे, और जग जालन  के ख्यालन से हट रे।

जागत, सोवत, पग जोवत में राधे राधे, रट राधे राधे त्याग उरते कपट रे ।।

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए…

 

लाल बलबीर धर धीर रट राधे राधे, हरे कोटि बाधे रट राधे झटपट रे।

ऐ रे मन मेरे तू छोड़ के झमेले सब, रट राधे रट राधे राधे रट रे ।।

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए…

 

 

श्री राधे इतनी कृपा तुम्हारी हम पे हो जाए।

किसी का नाम लूँ जुबा पे तुम्हारा नाम आये ।।

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए…

 

वो दिन भी आये तेरे वृन्दावन आयें हम, तुम्हारे चरणों में अपने सर को झुकाएं हम।

ब्रज गलिओं में झूमे नाचे गायें हम, मेरी सारी उम्र वृन्दावन में तमाम हो जाए ।।

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए…

              Kishori Kuch Aisa Intazam Ho Jaye Lyrics

वृन्दावन के वृक्ष को, मर्म ना जाने कोई।

डार डार और पात पात में, श्री श्री राधे राधे होए ।।

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए…

 

अरमान मेरे दिल का मिटा क्यूँ नहीं देती, सरकार वृन्दावन में बुला क्यूँ नहीं लेती।

दीदार भी होता रहे हर वक्त बार बार, चरणों में अपने हमको बिठा क्यूँ नहीं लेती ।।

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए…

 

श्री वृन्दावन वास मिले, अब यही हमारी आशा है।

यमुना तट छाव कुंजन की जहाँ रसिकों का वासा है ।।

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए…

 

सेवा कुंज मनोहर निधि वन, जहाँ इक रस बारो मासा है।

ललिता किशोर अब यह दिल बस, उस युगल रूप का प्यासा है ।।

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए…

 

मैं तो आई वृन्दावन धाम किशोरी तेरे चरनन में।

किशोरी तेरे चरनन में, श्री राधे तेरे चरनन में ।।

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए…

 

ब्रिज वृन्दावन की महारानी, मुक्ति भी यहाँ भरती पानी।

तेरे चरन पड़े चारो धाम, किशोरी तेरे चरनन में ।।

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए…

 

 

करो कृपा की कोर श्री राधे, दीन जजन की ओर श्री राधे।

मेरी विनती है आठो याम, किशोरी तेरे चरनन में ।।

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए…

 

बांके ठाकुर की ठकुरानी, वृन्दावन जिन की रजधानी।

तेरे चरण दबावत श्याम, किशोरी तेरे चरनन में ।।

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए…

 

मुझे बना लो अपनी दासी, चाहत नित ही महल खवासी।

मुझे और ना जग से काम, किशोरी तेरे चरण में ।।

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए…

 

किशोरी इस से बड़ कर आरजू -ए-दिल नहीं कोई।

तुम्हारा नाम है बस दूसरा साहिल नहीं कोई।

तुम्हारी याद में मेरी सुबहो श्याम हो जाए ।।

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए…

 

यह तो बता दो बरसाने वाली मैं कैसे तुम्हारी लगन छोड़ दूंगा।

तेरी दया पर यह जीवन है मेरा, मैं कैसे तुम्हारी शरण छोड़ दूंगा ।।

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए…

 

ना पूछो किये मैंने अपराध क्या क्या, कही यह जमीन आसमा हिल ना जाये।

जब तक श्री राधा रानी शमा ना करोगी, मैं कैसे तुम्हारे चरण छोड़ दूंगा ।।

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए…

 

बहुत ठोकरे खा चूका जिन्दगी में, तमन्ना तुम्हारे दीदार की है।

जब तक श्री राधा रानी दशन ना दोगी, मैं कैसे तुम्हारा भजन छोड़ दूंगा ।।

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए…

 

तारो ना तारो मर्जी तुम्हारी, लेकिन मेरी आखरी बात सुन लो।

मुझको श्री राधा रानी जो दर से हटाया, तुम्हारे ही दर पे मैं दम तोड़ दूंगा ।।

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए…

 

मरना हो तो मैं मरू, श्री राधे के द्वार ।

कभी तो लाडली पूछेगी, यह कौन पदीओ दरबार ।।

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए…

 

आते बोलो, राधे राधे, जाते बोलो, राधे राधे।

उठते बोलो, राधे राधे, सोते बोलो, राधे राधे।

हस्ते बोलो, राधे राधे, रोते बोलो, राधे राधे…

*************************************************************

Radhe  krishan Bhajan

Kishori kuch aisa intejam ho jaye

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए - Kishori Kuch Aisa Intazam Ho Jaye Lyrics
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए - Kishori Kuch Aisa Intazam Ho Jaye Lyrics
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए - Kishori Kuch Aisa Intazam Ho Jaye Lyrics

Kishori Kuch Aisa Intazam Ho Jaye Lyrics pdf download 

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए - Kishori Kuch Aisa Intazam Ho Jaye Lyrics

#krishnabhajan

Click here Fore More Bhajans
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए - Kishori Kuch Aisa Intazam Ho Jaye Lyrics
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए - Kishori Kuch Aisa Intazam Ho Jaye Lyrics
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए - Kishori Kuch Aisa Intazam Ho Jaye Lyrics
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए - Kishori Kuch Aisa Intazam Ho Jaye Lyrics
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए - Kishori Kuch Aisa Intazam Ho Jaye Lyrics
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए - Kishori Kuch Aisa Intazam Ho Jaye Lyrics
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए - Kishori Kuch Aisa Intazam Ho Jaye Lyrics
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए - Kishori Kuch Aisa Intazam Ho Jaye Lyrics
Kishori Kuch Aisa Intazzam Ho Jaye Video Bhajan

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here