तेरे दरबार मे मैया – Tere Darbar Me Maiya Khushi Milti Hai

0
44
tere darbar mai maiya
tere darbar mai maiya

 

Tere Darbar Me Maiya Lyrics In Hindi

तेरे दरबार मे मैया खुशी मिलती है

 

तेरी छाया मे, तेरे चरणों मे, मगन हो बैठूं , तेरे भक्तों मे ।।

 

तेरे दरबार मे मैया खुशी मिलती है

जिंदगी मिलती है रोतों को हँसी मिलती है ।।

 

इक अजब सी मस्ती तन मन पे छाती है

हर इक जुबां तेरे ओ मैया गीत गाती है

बजते सितारों से मीठी पुकारो से

गूंजे जहाँ सारा तेरे ऊँचे जयकारो से

मस्ती मे झूमे तेरा दर चूमे

तेरे चारो तरफ दुनिया ये घुमे

ऐसी मस्ती भी भला क्या कहीं मिलती है

तेरे दरबार मे मैया खुशी मिलती है ।।

 

मेरी शेरों वाली माँ तेरी हर बात अच्छी है

करनी की पूरी है माता मेरी सच्ची है

सुख-दुख बँटाती है अपना बनाती है

मुश्किल मे हों बच्चे तो माँ ही काम आती है

रक्षा करती है भक्त अपने की

बात सच्ची करती उनके सपनो की

सारी दुनिया की दौलत यही मिलती है

जिंदगी मिलती है रोतों को हँसी मिलती है

तेरे दर बार मे मैया खुशी मिलती है ।।

 

रोता हुआ आये जो हँसता हुआ जाता है

मन की मुरादो को वो पाता हुआ जाता है

किस्मत के मारो को रोगी बीमारों को

करदे भला चंगा मेरी माँ अपने दुलारौ को

पाप कट जाये चरण छूने से

महकती है दुनिया माँ धुने से

फिर तो माँ ऐसी कभी क्या कहीं मिलती है

जिंदगी मिलती है रोतों को हँसी मिलती है

तेरे दरबार मे मैया खुशी मिलती है ।।

*********************************************

Lakhbir Singh Lakkha Bhajan

तेरे दर बार मे मैया - Tere Darbar Me Maiya Khushi Milti Hai Lyrics
 

Tere Darbar Me Maiya Khusi Milti Hai Download

तेरे दर बार मे मैया - Tere Darbar Me Maiya Khushi Milti Hai Lyrics
 
#MataBhajan
 
 
 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here