bhor bhayi din chad gaya meri ambe | भोर भई दिन चढ़ गया

293
Bhor bHayi din Chad gaya
Bhor bHayi din Chad gaya

vidhi sharma bhor bhayi din chad gaya

 भोर भई दिन चढ़  गया मेरी अम्बे

 

 भोर भई दिन चढ़  गया मेरी अम्बे, भोर भई दिन चढ़  गया मेरी अम्बे

हो रही जय जय कार मंदिर विच आरती जय माँ

हे दरबारा वाली आरती जय माँ, हे पहाड़ा वाली आरती जय माँ ।।

 

काहे दी मैया तेरी आरती बनावा, काहे दी मैया तेरी आरती बनावा

काहे दी पावां विच बाती, मंदिर विच आरती जय माँ

सोहे चोले वाली आरती जय माँ

हे माँ पहाड़ा वाली आरती जय माँ ।।

 

सर्व सोने दी आरती बनावा, सर्व सोने दी आरती बनावा

अगर कपूर पावां बाती, मंदिर विच आरती जय माँ

हे माँ पिंडी रानी आरती जय माँ

हे माॅं पहाड़ा वाली आरती जय माँ ।।

 

कौन सुहागन दिवा बालेया मेरी मैया, कौन सुहागन दिवा बालेया मेरी मैया

कौन जागेगा सारी रात, मंदिर विच आरती जय माँ

सच्चिया ज्योतां वाली आरती जय माँ

हे पहाड़ा वाली आरती जय माँ ।।

 

सर्व सुहागन दिवा बलिया मेरी अम्बे, सर्व सुहागन दिवा बलिया मेरी अम्बे

ज्योत जागेगी सारी रात, मंदिर विच आरती जय माँ

हे माँ त्रिकुटा रानी आरती जय माँ

हे पहाड़ा वाली आरती जय माँ

 

जुग जुग जीवे तेरा जम्मुए दा राजा, जुग जुग जीवे तेरा जम्मुए दा राजा

जिस तेरा भवन बनाया, मंदिर विच आरती जय माँ

हे मेरी अम्बे रानी आरती जय माँ

हे पहाड़ा वाली आरती जय माँ

 

सिमर चरण तेरा ध्यानु यश गावे, सिमर चरण तेरा ध्यानु यश गावे

जो ध्यावे सो, यो फल पावे, रख बाणे दी लाज

मंदिर विच आरती जय माँ

सोहने मंदिरां वाली आरती जय माँ ।।

 

भोर भई दिन चढ़  गया मेरी अम्बे, भोर भई दिन चढ़  गया मेरी अम्बे

हो रही जय जय कार मंदिर विच आरती जय माँ

हे दरबारा वाली आरती जय माँ, हे पहाड़ा वाली आरती जय माँ ।। 

**********************************************

bhor bhayi din chad gaya

 

 

bhor bhayi din chad gaya lyrics PDF Download

 


krishna bhajan

Kabir Bhajan

Mata Bhajan

Meera Bhajan

Gorakshnath bhajan

Aarti

Ramdevji Bhajan

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here