मन मस्त हुआ फिर क्या बोले – Man Mast Hua Fir Kya Bole Lyrics

1877
Bina Shish Ki Panihaari
Bina Shish Ki Panihaari

Man Mast Hua Fir Kya Bole Lyrics In Hindi

 मन मस्त हुआ फिर क्या बोले

मन मस्त हुआ फिर क्या बोले 
क्या बोले फिर क्या बोले ए मस्त हुआ फिर क्या बोले 
मन मस्त हुआ फिर क्या बोले
 
हीरा पाया बांध गठड़ीया
 ए बार-बार वाको क्यों खोले  
मन मस्त हुआ फिर क्या बोले।।
 
हंसा नहावे मानसरोवर
ए ताल तलैया में क्यों डोले
मन मस्त हुआ फिर क्या बोले ।।
 
सूरत कलालण भई मतवारी 
ए मदवा पी गई आण तोले
 मन मस्त हुआ फिर क्या बोले।।
 
हल्की थी जब चढ़ी तराजू 
ए पूरी भई तब क्या तोले 
 मन मस्त हुआ फिर क्या बोले।।
 
 
कहे कबीर सुनो भाई साधो है
साहिब मिल गया दिल वाले
 मन मस्त हुआ फिर क्या बोले।।
*******************************************

Man Manst Hua Bhajan Lyrics Kabir Bhajan

मन मस्त हुआ फिर क्या बोले  - Man Mast Hua Fir Kya Bole Lyrics
 
 

Man Mast Hua Fir Kya Bole Download

मन मस्त हुआ फिर क्या बोले  - Man Mast Hua Fir Kya Bole Lyrics
 
#Kabirbhajan
 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here