हम परदेसी पंछी रे – Hum Pardesi Panchi re sadhu bhai lyrics

1279
Bina Shish Ki Panihaari
Bina Shish Ki Panihaari

हम परदेसी पंछी रे साधु भाई

Hum Pardesi Panchi re sadhu bhai

 

हम परदेसी पंछी रे साधु भाई ईनी देश रा नाही

ईनी देश रा लोग अचेता पल पल परले में जाई

म्हारा साधू भाई  ईनी देश रा नाही

हम परदेसी पंछी रे साधु भाई ईनी देश रा नाही

 

छाया में बैठु तो अग्नि सी लागे, धूप बहुत शीतलाय

छांया धूप से मोरा सद्गुरु न्यारा में सद्गुरु के माहीं

म्हारा साधू भाई  ईनी देश रा नाही

हम परदेसी पंछी रे साधु भाई ईनी देश रा नाही

 

मुख बिन बोलना पग बिन चलना बिना पखों से उड़ जाई

इना सूरत की लोय हमारी अनहद में ओड़जााई

म्हारा साधू भाई  ईनी देश रा नाही

हम परदेसी पंछी रे साधु भाई ईनी देश रा नाह

 

आठों पहर अड़ा रहे आसान कबहुँ ना उतरेगा साईं

ग्यानी रे ध्यानी वा पच पच मर गया  म्हारा साधू भाई 

म्हारा साधू भाई  ईनी देश रा नाही

हम परदेसी पंछी रे साधु भाई ईनी देश रा नाह

 

निर्गुण रुपी है दाता मेरा सिरगुण नाम धरायी

मन पवन दोनों नहीं पहुंचे उणी देस के रा माई

म्हारा साधू भाई  ईनी देश रा नाही

हम परदेसी पंछी रे साधु भाई ईनी देश रा नाह

 

नव सिख नैन शरीर हमारा सद्गुरु अमर कराई

कहे कबीर मिलो निर्गुण से तो अजर अमर हो जाई 

म्हारा साधू भाई  ईनी देश रा नाही

हम परदेसी पंछी रे साधु भाई ईनी देश रा नाही

**********************

Kabir Bhajan

हम परदेसी पंछी रे - Hum Pardesi Panchi re sadhu bhai lyrics

 

हम परदेसी पंछी रे - Hum Pardesi Panchi re sadhu bhai lyrics
 

Hum Pardesi Panchhi re sadhu bhai bhajan

              hum panchi pardesi re

#kabirbhajan
 
Kabirdas ke bhajan in hindi lyrics.

 

 


krishna bhajan

Kabir Bhajan

Mata Bhajan

Meera Bhajan

Gorakshnath bhajan

Aarti

Ramdevji Bhajan

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here