Choghadiya | चौघड़िया

283
Choghadiya
Choghadiya

Choghadiya

चौघड़िया क्या है ? – What is Choghadiya

यदि सरल शब्दों में समझा जाये तो यह अच्छा समय या बुरा समय देखने के
काम में आता है, यदि किसी शुभ कार्य को करना हो और कोई पंण्डित न मिल
रहा हो तो चौघड़िया देखकर आप स्वंय भी देख सकते हो चौघड़िया देखना बहुत
आसान और सरल है,

चौघड़िया देखने से शुभ मुर्हुत निकाला जा सकता है, और
काल के समय को यानि बुरे समय के मुर्हुत को टाला जा सकता है,
अतः चौघड़िया घर बैठे मुर्हुत देखने का एक अचुक उपाय है।

चौघड़िया को कैसे देखें ? – How to see choghadiya?

चौघड़िया को देखना बहुत आसान है आपको सिर्फ अच्छे और बुरे चौघड़िया
के नाम याद रखना है, अच्छे चौघड़िया अमृत, लाभ, शुभ एवं चर ये चार
प्रकार के चौघड़िया अच्छे होते है इनके समय में आप कोई भी शुभ कार्य को
कर सकते हौ, और इसके विपरित अशुभ चौघड़िया में उद्वेग, काल एवं रोग ये
तीन प्रकार के चौघड़िया अशुभ होते है, इनके समय में शुभ कार्य करने से बचना
चाहिए ।
अब आपको निचे दिये फोटो में एक तरफ समय सारणी दी गई्र है और उपर की तरफ
वारों के नाम दिये है, अब आपके सर्वप्रथम उपर आज का वार देखना है मान लीजिए
आज वार सोमवार है और समय सुबह 10 बज रहे है यदि हम अभी का शुभ मुर्हूत निकालना
चाहे तो वार के निचे का डिब्बा जो ठीक 10 बजे के समय के सामने आ रहा हो उसे
देखते है, हम देखते है कि 10 बजे के सामने शुभ लिखा आ रहा है जोकि शुभ मुर्हूत है,
इस प्रकार आप आसानी चौघड़िया को देख सकते है ।

Din Ka Choghadiya – दिन का चौघड़िया

Din Ka Choghadiya
Din Ka Choghadiya

Choghadiya PDF  Download 

Choghadiya

Rat ka Choghadiya – रात का चौघड़िया

Rat ka Choghadiya
Rat ka Choghadiya

Choghadiya PDF  Download

Choghadiya

सभी प्रकार के को संक्षेप में झमझेंगे

1. उद्वेग चौघड़िया
ज्योतिष में सूर्य के प्रभाव को आमतौर पर अशुभ माना गया है इसीलिए इसे उद्वेग के रूप में चिह्नित किया जाता है। हालांकि, इस चौघड़िया में सरकारी कार्यों को किया जा सकता है।

2.चर चौघड़िया
शुक्र को एक शुभ और लाभकारी ग्रह माना जाता है। इसलिए इसे चर या चंचल रूप में चिह्नित किया गया है। शुक्र की चर प्रकृति के कारण, चर चौघड़िया को यात्रा उद्देश्य के लिए सबसे उपयुक्त माना जाता है।

3.लाभ चौघड़िया
बुध ग्रह भी शुभ और लाभदायक ग्रह है इसलिए इसे लाभ के रूप में चिह्नित किया गया है। लाभ के चौघड़िया में शिक्षा या किसी विद्या को सिखने का कार्य प्रारंभ किया जाता है तो वह फलदायी होता है।

4.अमृत चौघड़िया
चंद्र ग्रह अति शुभ और लाभकारी ग्रह है। इसीलिए इसे अमृत के रूप में चिह्नित किया गया है। अमृत चौघड़िया को सभी प्रकार के कार्यों के लिए अच्छा माना जाता है।

5.काल चौघड़िया
शनि एक पापी ग्रह है इसीलिए इसे काल के रूप में चिह्नित किया गया है। काल चौघड़िया के दौरान कोई शुभ कार्य नहीं करना चाहिए। हालांकि, कुछ मामलों में धनोपार्जन हेतु की जाने वाली गतिविधियों के लिए यह लाभदायक सिद्ध हो सकता है।

6.शुभ चौघड़िया
बृहस्पति अत्यंत ही शुभ ग्रह है और यह लाभकारी ग्रह माना गया है। इसलिए इसे शुभ के रूप में चिह्नित किया जाता है। शुभ चौघड़िया को विशेष रूप से विवाह समारोह आयोजित करने के लिए उपयुक्त माना जाता है।

7.रोग चौघड़िया
मंगल एक क्रूर और अनिष्टकारी ग्रह है। इसलिए इसे रोग के रूप में चिह्नित किया गया है। रोग चौघड़िया के दौरान कोई शुभ कार्य नहीं करना चाहिए। लेकिन युद्ध में शुत्र को हराने के लिए रोग चौघड़िया की अनुशंसा की जाती है।

***************************************************************************

सम्पूर्ण चौघड़िया को डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें


krishna bhajan

Kabir Bhajan

Mata Bhajan

Meera Bhajan

Gorakshnath bhajan

Aarti

Ramdevji Bhajan

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here