Tulsi mata ki aarti | तुलसी माता की आरती

615
Tulsi aarti image 1

Tulsi mata ki aarti lyrics

तुलसी माता की आरती

जय जय तुलसी माता
सब जग की सुख दाता, वर दाता
जय जय तुलसी माता ।।


सब योगों के ऊपर, सब रोगों के ऊपर
रुज से रक्षा करके भव त्राता
जय जय तुलसी माता।।


बटु पुत्री हे श्यामा, सुर बल्ली हे ग्राम्या
विष्णु प्रिये जो तुमको सेवे, सो नर तर जाता
जय जय तुलसी माता ।।


हरि के शीश विराजत, त्रिभुवन से हो वन्दित
पतित जनो की तारिणी विख्याता
जय जय तुलसी माता ।।


लेकर जन्म विजन में, आई दिव्य भवन में
मानवलोक तुम्ही से सुख संपति पाता
जय जय तुलसी माता ।।


हरि को तुम अति प्यारी, श्यामवरण तुम्हारी
प्रेम अजब हैं उनका तुमसे कैसा नाता
जय जय तुलसी माता ।।


Tulsi mata ki aarti

Tulsi aarti image


Tulsi aarti PDF Download

DOWNLOAD PDF


Tulsi mata ki aarti Lyrics in English

Jai jai tulsi mata, sab jag ki such data, var data
Jai jai tulsi mata||


Sab yogon ke upar, sab rogon ke upar,
Ruj se raksha karke bhav trata।
Jai jai tulsi mata।


Batu putri he shyama, sur balli he gramya,
Vishnu priye jo tumko seve, so nar tar jata।
Jai jai tulsi mata।


Hari ke sheesh virajat, tribhuvan se ho vandit,
Patit jano ki tarini vikhyata।
Jai jai tulsi mata।


Lekar janma vijan mein, aai divya bhavan mein,
Manavlok tumhi se sukh sampatti pata।
Jai jai tulsi mata।


Hari ko tum ati pyari, shyamvarna humhari,
Prem ajab hai unka tumse nata।
Jai jai tulsi mata।


************************************************

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here