Pani kera budbuda – पानी केरा बुदबुदा

52
Pani kera budbuda image

Pani kera budbuda

पानी केरा बुदबुदा

पानी केरा बुदबुदा, अस मानस की जात।
देखत ही छिप जायेगा, ज्यों सारा परभात।।

हिन्दी अनुवाद (अर्थ) – 

कबीरदास जी कहते है कि मनुष्य का जीवन पानी के एक बुलबुले के समान है जो कुछ ही समय में नष्ट हो जाता है ठीक उसी प्रकार जिस प्रकार सवेरा होने पर प्रकाश के कारण आकाश में टिमटिमाते तारे छिप जाते हैं, और नया उजाला सभी दुर हो जाता है अर्थात मनुष्य को अपने जीवन पर घमण्ड नहीं करना चाहिए।


Kabir das ke dohe

Pani kera budbuda


Kabir das ke dohe PDF

kabir lyrics PDF


Pani kera budbuda in english

Pani kera budbuda, as manas ki jat

dekhat hi chhup jayega, jyo sara parbhat.

Meaning –

Kabir Das ji says that human life is like a bubble of water, which perishes in no time, just as the twinkling stars are hidden in the sky due to light at dawn, and the new light fades away. That is, man should not be proud of his life.


 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here