Malin aawat dekh ke kaliya kahe pukar

167

Malin aawat dekh ke kaliya kahe pukar

मालिन आवत देख के…

मालिन आवत देख के, कलियन कहे पुकार ।
फूले फूले चुन लिए, कलि हमारी बार ।।

अर्थ –  कबीरदास जी कहते है कि बगीचे के माली को आते देखकर बगीचे की कलियाँ आपस में बातें करती हैं कि आज माली ने फूलों को तोड़ लिया और कल हमारी बारी आ जाएगी। अर्थात आज आप जवान हैं कल आप भी बूढ़े हो जायेंगे और एक दिन मिट्टी में मिल जाओगे। आज की कली, कल फूल बनेगी।


Malin aawat dekh ke Lyrics

Malin Aawat dekh ke


 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here