Jag me beri koi nahi | जग में बैरी कोई नहीं Meaning

141
Jag me beri koi nahi | जग में बैरी कोई नहीं Meaning

Jag me beri koi nahi

जग में बैरी कोई नहीं

जग में बैरी कोई नहीं, जो मन शीतल होय।
यह आपा तो डाल दे, दया करे सब कोय।।

अर्थ – कबीर दास जी महाराज कहते है कि इस संसार में तुम्हारा दुश्मन कोई नही है यदि आप अपने मन मे पवित्र या शुद्ध हो, और यदि आप अपना अभिमान या घमण्ड छोड़ दे तो यह दुनिया आपसे स्नेह और दया भावना रखेगी और प्रेम करेगी।


Jag me beri koi nahi meaning

Jag me beri koi nahi


Jag me beri koi nahi in english

Jag Me beri koi nahi, Jo man me sheetal hoy.

Yah Aapa to daal de, Daya kare sab koy.

Meaning – Kabir Das Ji Maharaj says that in this world you have no enemy if you are pure or pure in your mind, and if you give up your pride or pride, then this world will keep and love you with affection and kindness.


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here