Desh bhakti geet lyrics

64

ऐ मेरे वतन के लोगों, ज़रा आँख में भर लो पानी

Desh bhakti geet lyrics

 

ऐ मेरे वतन के लोगों,
तुम खूब लगा लो नारा

ये शुभ दिन हैं… हम सब का,
लहरा लो तिरंगा प्यारा..
पर मत भूलो सीमा पर,
वीरों ने हैं प्राण गवाये

कुछ याद उन्हें भी कर लो,
कुछ याद उन्हें भी कर लो
जो लौट के घर ना आये,
जो लौट के घर ना आये

ऐ मेरे वतन के लोगों,
ज़रा आँख में भर लो पानी
जो शहीद हुये हैं उनकी,
ज़रा याद करो कुर्बानी

ऐ मेरे वतन के लोगों,
ज़रा आँख में भर लो पानी
जो शहीद हुये हैं उनकी,
ज़रा याद करो कुर्बानी

तुम भूल ना जाओ उनको
इसलिए सुनो ये कहानी
जो शहीद हुये हैं उनकी,
ज़रा याद करो कुर्बानी

जब घायल हुआ हिमालय,
ख़तरे में पड़ी आज़ादी
जब तक थी साँस लडे वो..
जब तक थी साँस लडे वो,

फिर अपनी लाश बिछा दी
संगीन पे धर कर माथा,
सो गये अमर बलिदानी
जो शहीद हुये हैं उनकी,
ज़रा याद करो कुर्बानी

जब देश में थी दीवाली,
वो खेल रहे थे होली
जब हम बैठे थे घरों में..
जब हम बैठे थे घरों में ..
वो झेल रहे थे गोली

थे धन्य जवान वो अपने,
थी धन्य वो उनकी जवानी
जो शहीद हुये हैं उनकी,
ज़रा याद करो कुर्बानी

कोई सिख कोई जाट मराठा, कोई सिख कोई जाट मराठा
कोई गुरखा कोई मदरासी, कोई गुरखा कोई मदरासी

सरहद पर मरनेवाला…
सरहद पर मरनेवाला
हर वीर था भारतवासी

जो खून गिरा पर्वत पर,
वो खून था हिन्दुस्तानी
जो शहीद हुये हैं उनकी,
ज़रा याद करो कुर्बानी

थी खून से लथपथ काया,
फिर भी बंदुक उठाके
दस दस को एक ने मारा,
फिर गिर गये होश गँवा के

जब अंत समय आया तो…

जब अंत समय आया तो
कह गये के अब मरते हैं
खुश रहना देश के प्यारों,

खुश रहना देश के प्यारों,
अब हम तो सफ़र करते हैं

अब हम तो सफ़र करते हैं

क्या लोग थे वो दीवाने,
क्या लोग थे वो अभिमानी
जो शहीद हुये हैं उनकी,
ज़रा याद करो कुर्बानी

तुम भूल ना जाओ
उनको इसलिए कही ये कहानी
जो शहीद हुये हैं उनकी,
ज़रा याद करो कुर्बानी
जय हिंद, जय हिंद, जय हिंद की सेना
जय हिंद, जय हिंद, जय हिंद की सेना

हिंद की सेना
जय हिंद,जय हिंद,जय हिंद


ऐ मेरे वतन के लोगों, तुम खूब लगा लो नारा


Ae mere watan ke logo lyrics PDF

DOWNLOAD PDF


Desh bhakti geet lyrics in English

Aye Mere Watan Ke Logon
Tum Khub Laga Lo Naara
Yeh Shubh Din Hai Hum Sab Kaa
Lehra Lo Tiranga Pyaara

Par Mat Bhulo Seema Par
Viron Ne Hai Pran Gawayen
Kuchh Yaad Unhe Bhi Kar Lo
Kuchh Yaad Unhe Bhi Kar Lo
Jo Laut Ke Ghar Naa Aaye
Jo Laut Ke Ghar Naa Aaye

Aye Mere Vatan Ke Logon
Jara Aankh Me Bhar Lo Pani
Jo Shahid Huye Hain Unki
Jara Yaad Karo Kurbani

Aye Mere Watan Ke Logon
Jara Aankh Me Bhar Lo Paani
Jo Shahid Huye Hain Unki
Jara Yaad Karo Kurbani

Tum Bhool Na Jao Unko
Isliye Suno Ye Kahaani
Jo Shahid Huye Hain Unki
Jara Yaad Karo Kurbani

Jab Ghaayal Huva Himalay
Khatre Me Padi Aazadi
Jab Tak Thi Saans Lade Woh
Phir Apni Laash Bichha Di

Sangeen Pe Dhar Kar Maatha
So Gaye Amar Balidani
Jo Shahid Huye Hain Unki
Jara Yaad Karo Kurbani

Jab Desh Me Thi Diwali
Woh Khel Rahe The Holi
Jab Hum Baithen The Gharon Me
Jab Hum Baithen The Gharon Me
Woh Jhel Rahe The Goli

The Dhanya Jawaan Woh Apne
Thi Dhanya Woh Unki Jawaani
Jo Shahid Huye Hain Unki
Jara Yaad Karo Kurbani

Koi Sikh Koi Jaat Marathha Koi Sikh Koi Jaat Marathha
Koi Gurkha Koi Madrasi Koi Gurkha Koi Madrasi

Sarhad Pe Marne Wala..
Sarhad Pe Marne Wala
Har Veer Tha Bhaaratbasi

Jo Khoon Gira Parvat Par
Wo Khoon Tha Hindustani
Jo Shahid Huye Hain Unki
Jara Yaad Karo Kurbani

Thi Khoon Se Lat-pat Kaaya
Phir Bhi Banduk Uthake
Dus Dus Ko Ek Ne Maara
Phir Gir Gaye Hosh Gawan Ke

Jab Antsamay Aaya To..
Jab Antsamay Aaya To
Keh Gaye Ke Ab Marte Hain
Khus Rehna Desh Ke Pyaaron..
Khus Rehna Desh Ke Pyaaron
Ab Hum To Safar Karte Hein
Ab Hum To Safar Karte Hein

Kya Log The Wo Deewane
Kya Log The Wo Abhimani
Jo Shahid Huye Hain Unki
Jara Yaad Karo Kurbani

Tum Bhool Na Jao Unko
Isliye Kahi Ye Kahaani
Jo Shahid Huye Hain Unki
Jara Yaad Karo Kurbani

Jai Hind Jai Hind Jai Hind Ki Sena
Jai Hind Jai Hind Jai Hind Ki Sena

Hindi ki sena
Jai Hind Jai Hind Jai Hind


Jai Hind…..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here