Home Blog

Desh bhakti geet lyrics

0
ऐ मेरे वतन के लोगों, ज़रा आँख में भर लो पानी Desh bhakti geet lyrics   ऐ मेरे वतन के लोगों, तुम खूब लगा लो नारा ये शुभ दिन...

Shiv Bhajan मेरा भोला है भंडारी, करे नंदी कि सवारी।

0
Shiv Bhajan Mera Bhola Hai Bhandari Kare Nandi Ki Sawari Lyrics मेरा भोला है भंडारी, करे नंदी कि सवारी। मेरा भोला है भण्डारी, करे नंदी कि सवारी। सबना...

Radha Rani Hame Bhi Bata De Jara Lyrics

0
Radha Rani Hame Bhi Bata De Jara Lyrics राधा रानी हमें भी बता दे ज़रा कान्हां की तस्वीर पे, रख के राधे हाथ, सच्ची सच्ची बोलना, हम...

Pradeep Mishra Bhajan Lyrics | प्रदीपजी मिश्रा के भजन

0
Pradeep Mishra Bhajan Lyrics Bhola Sab Dukh Kato Mhara Lyrics भोला सब दुख काटो मारा भोला सब दुख काटो मारा शिव शंकर जपूं मैं तेरी माला भोला...
Prem Na Bari Upaje

प्रेम न बारी उपजे | Prem na bari upje | Kabir Das

0
Prem na bari upje प्रेम न बारी उपजे प्रेम न बारी उपजे, प्रेम न हाट बिकाए । राजा प्रजा जो ही रुचे, सिस दे ही ले जाए...
तन को जोगी सब करे, मन को विरला कोय ।

तन को जोगी सब करे | Tan ko jogi sab kare

0
Tan ko jogi sab kare तन को जोगी सब करे तन को जोगी सब करे, मन को विरला कोय । सहजे सब विधि पाइए, जो मन जोगी...
हर हर शंभू शंभू शंभू शंभू शिव महादेवा,

हर हर शंभू | Har Har Shambhu Shiv Mahadeva Lyrics

1
Har Har Shambhu Shiv Mahadeva lyrics हर हर शंभू शंभू शंभू शंभू शिव महादेवा हर हर शंभू शंभू शंभू शंभू शिव महादेवा, शंभू शंभू शंभू शंभू शिव...
Tirath Gaye Se ek Fal

Tirath Gaye Se ek Fal | तीरथ गए से एक फल Meaning

0
Tirath Gaye Se ek Fal तीरथ गए से एक फल तीरथ गए से एक फल, संत मिले फल चार । सतगुरु मिले अनेक फल, कहे कबीर विचार...
Te din gaye akarath hi

Te din gaye akarath hi | ते दिन गए अकारथ ही Meaning

0
Te din gaye akarath hi ते दिन गए अकारथ ही प्रेम बिना पशु जीवन, भक्ति बिना भगवंत । अर्थ - कबीर दास जी कहते हैं कि अब...
Jag me beri koi nahi | जग में बैरी कोई नहीं Meaning

Jag me beri koi nahi | जग में बैरी कोई नहीं Meaning

0
Jag me beri koi nahi जग में बैरी कोई नहीं जग में बैरी कोई नहीं, जो मन शीतल होय। यह आपा तो डाल दे, दया करे सब...